Hindi

/Hindi

रोगों का कारण और निवारण

2018-09-26T05:27:03+00:00

“सफलता पर विजय” की इस अद्भुत यात्रा में आपका स्वागत है| हम एक ऐसी यात्रा पर हैं, जिसमे हम जान रहे हैं कि हम जीवन में कैसे स्वस्थ हों और साथ ही कैसे हमारे सम्बन्ध मधुर हों, बुद्धि तीक्षण हो, ह्रदय प्रेमल हो और चेतना ध्यानस्थ हो, जिससे हम जीवन में एक आनंदमय सफलता, एक नाचती हुई सफलता का अनुभव कर सकें| अब तक हमने जाना कि बिना आनंद के सफलता अधूरी है और बिना सफलता के आनंद अधूरा है| एक पूर्ण जीवन वही है जिसमें सफलता और आनंद दोनों प्रचुर मात्रा में हैं| इन दोनो को जीवन में हांसिल [...]

रोगों का कारण और निवारण2018-09-26T05:27:03+00:00

सफलता का पहला अटकाव: संबंधों में तनाव

2018-10-06T12:32:20+00:00

पिछले लेख “सफलता पर विजय” में हमने जाना कि हम सब सफल होना चाहते हैं जिसके लिए हमारे चेतना तो संसार में यात्रा करनी होती है अर्थात हमें कर्म के जगत में उतरना होता है| दूसरा हमने जाना कि आनंद हमारे भीतर है जिसके लिए चेतना को स्वयं के भीतर यात्रा करनी होती है, ध्यान में डूबना होता है| सफलता और आनंद; जीवन रुपी पक्षी के दो पंखों के सामान हैं और किसी एक के भी कट जाने पर जीवन का पक्षी उड़ान नहीं भर सकता और तड़पता रहता है| सफलता ओर आनंद को जीवन में बनाए रखने के लिए चेतना [...]

सफलता का पहला अटकाव: संबंधों में तनाव2018-10-06T12:32:20+00:00

सफलता पर विजय – सफलता और आनंद का अनोखा संगम

2018-09-20T11:25:29+00:00

आनंद हमारे भीतर है जीवन में हर पल हम ख़ुशी की तलाश करते हैं| जब हमारे पास धन होता है तो हम खुश होते हैं| जब हमारे पास पद होता है तो हम खुश होते हैं| जब हम सफल होते हैं तो हम खुश होते हैं| जब हमें सम्मान मिलता है, तो हम खुश होते हैं| सामान्यत: हमारी हर ख़ुशी के पीछे कोई न कोई कारण होता है| दूसरी ओर, अगर हम याद करें अपना बचपन, तब हमारे पास न धन था, न कोई पद था, न सम्मान था, न सफलता थी; ऐसा कुछ भी नहीं था जिसके कारण हम आज [...]

सफलता पर विजय – सफलता और आनंद का अनोखा संगम2018-09-20T11:25:29+00:00

छात्रों की बढती आत्महत्याएँ: अभिभावक कितने जिम्मेवार

2018-09-20T11:23:20+00:00

26 जुलाई 2018, दिल्ली के पीतमपुरा इलाके में गुरुवार को सुबह 11: 30 बजे VIPS कॉलेज की सातवीं मंजिल से कूदकर वरीशा नाम की लड़की ने खुदकुशी कर ली। वरीशा ने LLB की थी और यहां LLM के लिए अप्लाई किया था| 26 जुलाई 2018, कॉलेज के शौचालय में छात्रा ने आत्महत्या की, पुलिस ने शुरू की जांच| 18 जुलाई 2018: नौवीं कक्षा के छात्र ने हॉस्टल में की खुदकुशी, पिता ने जताई साजिश की आशंका। 14 जून 2018: मध्यप्रदेश में रैगिंग से परेशान एमबीबीएस छात्र ने फांसी लगाकर जान दी| 30 मई 2018: सीबीएसई क्लास 10 रिजल्ट: खराब रिजल्ट आने [...]

छात्रों की बढती आत्महत्याएँ: अभिभावक कितने जिम्मेवार2018-09-20T11:23:20+00:00